10वीं के बाद क्या करें, कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए? भाग – 3 (What to do after 10th, which subject should be taken? Part-3)

Hello Friends Masterji Tips मे आपका स्वागत है आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कैसे दसवीं के बाद सबसे बढिया विषय कौनसा है? 10वीं के बाद क्या करियर विकल्प मौजूद हैं? यदि आपने भी 10वीं पास की हैं या फिर 10वीं कक्षा में पढ रहे हैं. तब आपके मन में ये सवाल जरूर आते होंग़े? और हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि ऐसा सोचने वाले आप अकेले नहीं हैं. आपके अलावा आपके दोस्त, माता-पिता, रिश्तेदार यहाँ तक पडोसी भी इस प्रकार के सवालों को सोचते रहते हैं. और इनका समाधान ढूँढते रहते हैं. (आखिर सभी आपके लिए फिक्रमंद है.) हम आपको 10वीं के बाद आपको क्या करना चाहिए और क्यों करना चाहिए? इस बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं. ये Study Guide थोडी बडी हैं. इसलिए आपकी सुविधा के लिए हमने इसे कई छोटे-छोटे भागों में बांट दिया हैं.

10वीं के बाद कॉमर्स (वाणिज्य) लेना

कॉमर्स के बारे में एक धारणा हैं कि यह तो बणियों का विषय हैं. यह धारणा कुछ हद त सटीक बैठती हैं. वाणिज्य विषय में व्यापार यानि बिजनेस के बारे में अध्ययन करवाया जाता हैं. Study Commerce after 10th और हमारे देश में व्यापार बणियों द्वारा ही किया जाता थाऔर उनका ही कब्जा रहा हैं. इसलिए इस विषय को तो बणियों को पढना चाहिए. मगर ये बात सही नहीं. आप, हम और कोई भी कॉमर्स की पढाई कर सकता हैं. आपकी मेहनतऔर रुची के आगे कुछ भी संभव है. आप कुछ भी कर सकते हैं. आइए, अब जानते हैं. वाणिज्य संकाय में कौन-कौनसी विषय (Subjects) होती हैं?

लेखाशास्त्र (Accountancy)

कॉमर्स संकाय की यह सबसे प्रमुख विषय होती हैं. इस विषय में लेखा यानि हिसाब-किताब के बारे में वैज्ञानिक और प्राचीन तरीकों का अध्ययन करवाया जाता हैं. आप बिजनेस के प्रकार, उसका हिसाब-किताब, सार-संभाल, कागजात, कानूनी काम आदि का गहराई से अध्ययन करते हैं.

व्यापार प्रबंधन (Business Management)

इस विषय के अंतर्गत व्यापार का प्रबंधन सही तरीके कैसे किया जाता हैं? इसके बारे में पढाया जाता हैं.

सांख्यीकि (Statistics)

सांख्यीकि विषय आंकडों का विषय हैं. जिसके अंतर्गत उपलब्ध कच्चे आंकडों से पक्की जानकारी निर्मित क्रना, आंकडों का वैज्ञानिक अध्ययन आदि के बारे में पढाया जाता हैं.

संगणक (Computer)

इस विषय के अंतर्गत कम्प्युटर की अवधारणाएं, कम्प्युटर का उपयोग, कम्प्युटर का महत्व, इसमें करियर आदि के बारे में पढाया जाता हैं. साथ ही संगणक हमारे व्यापार के लिए कैसे लाभदायक हो सकता है? इस बारे में भी सीख सकते हैं.

टंकण (Typing)

यह कम्प्युटर का सहायक काम हैं और कॉमर्स में इसे अलग विषय बनाया गया हैं. इसमें High Speed Typing की तकनीके सीखाई जाती हैं. तथा आप Touch Typing को सीख जाते हैं.

अर्थशास्त्र (Economics)

पूँजी का अध्ययन इस विषय में कराया जाता हैं. आप व्यापार को गहराई से समझते हैं और जानते हैं कि मांग़-पूर्ती का नियम कैसे काम करता हैं.

गणित (Mathematics)

आपने सही पढा हैं. कॉमर्स में भी गणित पढाया जाता हैं. यदि आप CA बनना चाहते है तब कॉमर्स में गणित पढना समझदारी होगी.

कॉमर्स में करियर विकल्प

कॉमर्स विषय के द्वारा आप व्यापार को तो समझते ही है. साथ ही एक व्यापारी बनने का प्रशिक्षण भी ले लेते हैं. और एक व्यापारी भी बन सकते हैं.कॉमर्स विषय में CA – Chartered Accountant को सबसे बडा पद माना गया है. इसके अलावा कंपनी सचीव (Company Secretory) का कोर्स भी आगे चलकर कर सकते हैं. और बडी-बडी कंपनियों में अपनी सेवा दे सकते हैं. कॉमर्स विषय आपके लिए बैंकिग और फाईनेंस सेक्टर के दरवाजे खोल देता हैं. इसलिए आप सरकारी नौकरी के अलावा निजी कंपनियों में भी अकाउंटेंट, कैशियर, बाबु का काम कर कते हैं. बाकि मुनिम जी तो आप कहलाते ही हैं.

Friends अगर आपको यह Article पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने Friends के साथ share करे और हमारे आने वाले सभी Articleको सीधे अपने ईमेल बॉक्स में पाने के लिए हमें free subscribe करे. अगर आपका कोई सवाल हो तो कृपया comments करे..

Leave a Reply

%d bloggers like this: