Resume क्या होता है और नौकरी के लिए बढ़िया Resume कैसे बनाये? (What is a Resume and how to make a good resume for the job?)

Hi Friends MasterjiTips मे आपका स्वागत है आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे के किसी भी नौकरी के लिए जाने से पहले आपके पास एक अच्छा Resume होना जरूरी है, जो आपकी इमेज और आपके काम के बारे में सही-सही बताता हो। रिज्यूम बनाते समय अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे, तो निश्चित ही आपको नौकरी पाने में आसानी होगी। यहां प्रस्तुत हैं कुछ खास बातें-

Resume के notes: 

सबसे पहले अपने विषय में जो खास जानकारी आप Resume में देना चाहते हैं, उन्हें Note कर लें। Resume बनाने से पहले अपने बारे में सभी Factual Information, तारीख आदि इकट्ठा कर लें फिर Resume की तैयारी करें।

पर्सनल डिटेल्स (Personal details): किसी भी रिज्यूम की शुरुआत अपने विषय में व्यक्तिगत जानकारी से शुरू की जाती है जिसमें आपका नाम-पता और Mobile number व E mail ID होना चाहिए।

करियर का टारगेट (Career का Target) : अब आप अपने Resume में ऐसा कुछ लिखें, जो ये दर्शाता हो कि आपने अपने career के लिए क्या target निर्धारित कर रखा है या आप कैसे काम करने वाले हैं। यहां आप अपने career के बारे में थोड़ी-सी जानकारी दे सकते हैं।

एकेडमिक क्वालिफिकेशन (Academic qualification): Resume में आप अपनी शैक्षणिक (Educational) योग्यताओं की जानकारी दे सकते हैं। इसमें आप क्रमश: प्रमुख परीक्षाओं के बारे में उनके मार्क्स और परसेंट के साथ उल्लेख करें।

अदर क्वालिफिकेशन (Other qualification): आपके पास कोई विशेष योग्यता हो तो इसकी जानकारी भी Resume में दर्ज करनी चाहिए। Resume में आप अपनी शैक्षणिक योग्यताओं के अलावा वह Certificate भी लगा सकते हैं, जो आपने अपनी पढ़ाई पूरी करते समय हासिल की थी। जैसे कोई क्रेस कोर्स या डिप्लोमा। लेकिन यहां यह ध्यान देने लायक है कि आप जिस नौकरी के लिए जा रहे हैं, आपकी ये विशेषता उस काम में कितनी अहम है या फिर उस संस्थान का इससे क्या फायदा हो सकता है, इसका ध्यान रखें। अगर आपको लगता है कि इससे संबंधित संस्थान का कोई फायदा नहीं, तो इसकी जानकारी Resume में न दें तो ही अच्छा है।

एक्‍स्‍ट्रा एक्‍टि‍वि‍टीज (Extra activities) : Resume में आप अपनी एक्‍स्‍ट्रा एक्‍टि‍वि‍टीज की जानकारी भी दे सकते हैं, जैसे आपने खेल में कुछ खास किया हो। इससे आपके एक्टिव होने का अंदाजा लगाया जा सकेगा।

वर्क एक्सपीरियंस (Work experience) : अब आप अपने Career में किए गए कामों का ब्योरा दे सकते हैं। याद रखें ये सिर्फ पेज भरने के लिए नहीं होने चाहिए, बल्कि जो अहम हो उसे ही Resume में जगह दें। आप अपने पुराने अनुभवों के बारे में भी बता सकते हैं या फिर आपने दूसरे संस्थानों में अब तक क्या किया है, इसकी जानकारी दे सकते हैं।

बॉडी लैंग्वेज (Body language): Resume Submit करते समय यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपने Resume और खुद को किस तरह प्रस्तुत किया। Important यह नहीं है कि आप क्या कहते हैं, बल्कि यह ज्‍यादा Important है कि आप उसे किस तरह कहते हैं? हमेशा मुस्कराते रहें जो लोग अपने बारे में अच्छा सोचते हैं, उनकी बॉडी लैंग्वेज अक्सर बेहतर होती है। ‘एटि‍ट्यूड’ बड़ी काम की चीज है। इसलि‍ए जब भी आप कि‍सी से बात करें तो बॉडी लैंग्‍वेज पर जरूर ध्‍यान दें।

अंत में : सबसे खास बात Resume में कोई गलत जानकारी न दें। Resume ऐसा होना चाहिए कि सामने वाला व्यक्ति आपसे कुछ सवाल जरूर कर सके। अहम बात यह भी है कि आपका Resume किसी भी तरह से गंदा नहीं दिखाई देना चाहिए।

Friends अगर आपको यह Article पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने Friends के साथ share करे और हमारे आने वाले सभी Articleको सीधे अपने ईमेल बॉक्स में पाने के लिए हमें free subscribe करे. अगर आपका कोई सवाल हो तो कृपया comments करे.

Leave a Reply

%d bloggers like this: